Monday, April 22, 2024

बड़े कमाल का है सेब की तरह दिखने वाला फल नाशपाती, डायबिटीज-कैंसर जैसी बिमारियों को रखता है आपसे दूर

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_img

सेहतमंद रहने के लिए सब्जियों के साथ-साथ फलों का सेवन करना भी जरुरी होता हैं। ऐसे में एक फल है जो कुछ-कुछ हरे सेब की तरह दिखता है। इस फल का नाम है नाशपाती। नाशपाती कई सारे औषधीय गुणों से भरपूर होता है। स्वाद में खट्टा-मीठा लगने वाला यह फल फोलेट, विटामिन सी, कॉपर और पोटेशियम और पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट का एक अच्छा स्रोत माना जाता हैं। नाशपाती में मौजूद पोषक तत्व आपके शरीर को कोलेस्ट्रॉल, कब्ज, मधुमेह से बचाने के साथ ही दिल के दौरे और कुछ तरह के कैंसर से भी बचाने का काम करते है। तो चलिए आज हम विस्तार से नाशपाती खाने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं…

कॉलेस्ट्रोल को कम करता है
एक्सपर्ट्स का कहना है कि नाशपाती में पेक्टिन की उच्च मात्रा पाई जाती है, जो एलडीएल, ट्राइग्लिसराइड्स और वीएलडीएल के स्तर को कम करती है। उच्च कोलेस्ट्रॉल का खतरा कम होता है।

कब्ज से राहत
नाशपाती में मौजूद पेक्टिन पोषक तत्व एक सौम्य रेचक तरह काम करते है। पेक्टिन एक प्रकार का फाइबर है, जो पाचन संबंधी परेशानियों में राहत देने का काम करता है।

डायबिटीज में फायदेमंद
डायबिटीज आज के समय में सर्दी-जुकाम की तरह आम समस्या बन चुकी है। इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है। बस इसे कंट्रोल में रखा जा सकता है। ऐसे में नाशपाती डायबिटीज को कंट्रोल में रखने में मदद कर सकती है। दरअसल, इसमें उच्च मात्रा में फाइबर होता है, जो मधुमेह रोगियों में ब्लड शुगर के स्तर को बनाए रखता है।

कैंसर से बचाव
मूत्राशय, फेफड़े और भोजन नली में होने वाले कैंसर के खतरे से बचा सकती है नाशपाती। नाशपाती में यूरोसोलिक एसिड (ह्म्शह्यशद्यद्बष् ्रष्द्बस्र) होता है जो एरोमाटेज गतिविधि को रोकता है जिससे कैंसर से बचाव होता है। रजोनिवृत्ति के दौरान नाशपाती खाने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम कम हो सकता है। फलों में मौजूद आइसोक्वेरसिट्रिन डीएनए को सेहतमंद बनाए रखता है।

वजन कम
बढ़ते वजन से आज हर कोई परेशान है। ऐसे में अगर आप भी अपने बढ़े हुए वजन को लेकर परेशान है तो नाशपाती आपके काम का फल है। हाल ही में हुए एक शोध में अधिक वजन वाली महिलाओं को 12 हफ्तों तक रोजाना तीन नाशपाती का सेवन कराया गया। परिणामस्वरूप उनके वजन में कमी दर्ज की गई।

दिल ले लिए फायदेमंद
दिल की बीमारी आज एक आम समस्या हो गई है। बदलती जीवनशैली इसका मुख्य कारण है। ऐसे में अगर आप अपने दिल को बिमारियों से बचाना चाहते है तो नाशपाती को अपनी डाइट में शामिल कर लें। नाशपाती उच्च रक्तचाप (हृदय रोग का कारण) और दिल के दौरे के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए
रोग-प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत रखना है तो आज से ही नाशपाती का सेवन शुरू कर दे। नाशपाती में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान नाशपाती
गर्भावस्था में खान-पान का विशेष ध्यान रखा जाता है। इस दौरान महिलाओं को कई तरह के पौष्टिक तत्वों की आवश्यकता होती है, लेकिन सबसे ज्यादा जो महत्वपूर्ण होता है, वो है फोलेट। यह शिशु में न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट जैसे जन्मदोष से बचाव कर सकता है। ऐसे में नाशपाती का सेवन गर्भवती के लिए बहुत लाभकारी हो सकता है। हालाकि, गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही लें।

ब्लड प्रेशर
अगर आपको ब्लड प्रेशर है या आप उच्च रक्तचाप की समस्या से खुद को बचाना चाहते हैं, तो नाशपाती को अपने डाइट में शामिल करें। यह उच्च रक्तचाप की समस्या से बचाव कर आपको स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है।

गले की समस्या से राहत
नाशपाती का जूस गले में खराश या सांस लेने में परेशानी से निजात दिला सकता है। यह वोकल कॉर्ड के सूजन को कम कर सकता है और गले को पोषण प्रदान कर गले की समस्या से राहत दिला सकता है।

लिवर
नाशपाती का सेवन लिवर के लिए लाभकारी हो सकता है। इसमें हेपाटोप्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं, जो लिवर को किसी भी तरह की क्षति से बचा सकते हैं। आप लिवर को सही रखने के लिए अपने आहार में नाशपाती फल को शामिल कर सकते हैं।

ताजा खबरे