Monday, May 27, 2024

Uttarakhnad: हल्द्वानी के तनुज पाठक ने घर पर रहकर की पढ़ाई और पा ली 72वीं रैंक! सिविल सेवा की तैयारी कर रहे युवाओं को दिए 5 टिप्‍स

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_img

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की प्रशासनिक सेवा परीक्षा में हल्द्वानी के तनुज पाठक ने 72वीं रैंक हासिल की है। शीशमहल गौला गेट निवासी तनुज के पिता त्रिलोचन पाठक सहकारिता विभाग में कार्यरत हैं। माता आशा पाठक महात्मा गांधी इंटर कालेज में अध्यापिका हैं। तनुज ने सेंट थेरेसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल काठगोदाम इंटरमीडिएट तक पढ़ाई की है। इसके बाद आइआइटी रुड़की से बीटेक किया। दैनिक जागरण से बातचीत में तनुज ने बताया कि उन्होंने जून 2020 से प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी प्रारंभ कर दी थी। रोजाना आठ से 10 घंटे पढ़ाई करते थे और तीसरे प्रयास में सफलता मिली।

घर में रहकर स्वयं ही परीक्षा की तैयारी की। सिर्फ साक्षात्कार के लिए कोचिंग सेंटर की मदद ली। वहीं इंटरनेट मीडिया पर उपलब्ध सामग्री का भी अध्ययन में प्रयोग किया। तनुज ने सिविल सेवा की तैयारी कर रहे युवाओं से कहा कि लक्ष्य निर्धारित कर मेहनत करने से सफलता जरूर मिलती है। मूलरूप से मुनस्यारी निवासी और वर्तमान में लखनऊ में बस चुके परिवार के सदस्य अमितेज का यूपीएसपी मे चयन हुआ है। उसके चयन से मुनस्यारी में खुशी व्याप्त है। अमितेज के दादा जगत सिंह पांगती स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। अभितेज के पिता कनैल तेज बहादुर पांगती का परिवार लखनऊ में बस चुका है। अमितेज के यूपीएससी परीक्षा में 212वीं रैंक मिलने से मुनस्यारी क्षेत्र में खुशी व्याप्त है। एसडीआरएफ में तैनात डिप्टी कमांडेंट विजेंद्र डोभाल के बेटे तुषार डोभाल ने भी सिविल सेवा परीक्षा में 284वीं रैंक पाकर उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। तुषार का परिवार मूल रूप से टिहरी गढ़वाल के मरोड़ गांव का रहने वाला है, लेकिन उनका जन्म देहरादून में हुआ। तुषार की शुरुआती पढ़ाई सेंट मेरीज़ स्कूल, वाराणसी से हुई। इसके बाद सेंट मेरीज़ एकेडमी, मेरठ से 10वीं और 12वीं में 93 प्रतिशत अंकों से पास की। फिर स्नातकीय शिक्षा उन्होंने थापर इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी से प्राप्त की। जहां से 93 प्रतिशत अंकों के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग में बैचलर आफ इंजीनियरिंग की। इसके लिए उनको छात्रवृत्ति भी मिली। कालेज से ही कैंपस प्लसेमेंट के जरिये जेपी मोर्गन चेस के अमेरिकी बैंक में कार्पोरेट विश्लेषक के रूप में नौकरी मिली। अब सिविल सेवा परीक्षा पास कर वे आइआरएस अधिकारी बन जाएंगे। उनके पिता जौलीग्रांट में तैनात हैं।

 

 

ताजा खबरे