Tuesday, February 7, 2023
spot_imgspot_img

रोडवेज की तीन बसों का संचालन ठप होने से विभिन्न स्थानों पर जाने वाले यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें

अल्मोड़ा। रोडवेज की तीन बसों की आवाजाही पर आज प्रतिबंध लग रखा है, जिसके चलते विभिन्न स्थानों पर जाने वाले यात्रियों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा। बसों के न चलने से यात्रियों को टैक्सी, यात्री केमू आदि का सहारा लेना पड़ा, जिससे यात्रियों को कड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

रोडवेज स्टेशन अल्मोड़ा से लखनऊ, देहरादून, दिल्ली, चंडीगढ़, गुरुग्राम आदि स्थानों को बसों का संचालन किया जाता है। डिपो में चालकों की कमी है जिस वजह से मंगलवार को अल्मोड़ा-लमगड़ा-दिल्ली, अल्मोड़ा-बेतालघाट-दिल्ली, अल्मोड़ा-टनकपुर आदि सेवाओं का संचालन ठप रहा। बसें न चलने से लमगड़ा, बेतालघाट, टनकपुर, दिल्ली आदि स्थानों को जाने वाले यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। यात्री स्टेशन पर बसों का इंतजार करते रहे लेकिन बसें नहीं आने पर उन्हें बैरंग लौटना पड़ा। कई यात्री केमू और टैक्सी आदि से गंतव्य को रवाना हुए। रोडवेज की अपेक्षा टैक्सियों का किराया अधिक है जिस वजह से यात्रियों की जेब भी ढीली हुई।

यात्रियों ने कहा कि रोडवेज की कई बसों का नियमित संचालन नहीं हो रहा है जिस कारण विभिन्न रूटों को जाने पर परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने सभी रूटों पर बसों का नियमित संचालन किया जाना चाहिए ताकि यात्रियों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े।
अल्मोड़ा से देहरादून जा रहे बहादुर सिंह बिष्ट ने कहा कि बसें निर्धारित समय पर संचालित की जानी चाहिए। सेवाएं स्थगित होने से दिक्कतें हो रही हैं। प्रत्येक मार्ग पर दो सेवाएं संचालित की जानी चाहिए।
अल्मोड़ा से खैरना जा रहे अमन भंडारी ने कहा कि एक तो सड़क खराब है उस पर बसों की सीटें कटी-फटी हैं। इससे सफर जोखिम भरा हो रहा है। आए दिन सेवाएं स्थगित हो रही हैं जिससे यात्री परेशान हैं।

अल्मोड़ा से देहरादून जा रहे कुलदीप सिंह ने कहा कि चालकों की कमी दूर की जाए ताकि बसों का नियमित संचालन किया जा सके। उन्होंने स्टेशन परिसर में सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने की मांग की।

 

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे