Monday, January 30, 2023
spot_imgspot_img

गंगोत्री और यमुनोत्री में अबतक कर चुके हैं साढ़े चार लाख से ज्यादा श्रध्दालु दर्शन

देहरादून। चारधाम यात्रा को शुरु हुए आज करीब एक महीना हो चुका है जिसमें एक महीने के अंदर अब तक गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के यात्रियों ने अब तक साढ़े चार लाख से अधिक श्रध्दालु मां गंगा व यमुना के दर्शन करके लौट चुके है। चारधाम यात्रा पर आने वाले 41 तीर्थयात्रियों ने वाहन दुर्घटना समेत अन्य कारणों से जिले में अपनी जान भी गंवाई। जून माह की शुरुआत में गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा एक बार फिर अपने चरम पर पहुंची है।

बीते माह 3 मई को विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही विधिवत चारधाम यात्रा का आगाज हुआ। चारधाम यात्रा शुरू होते ही धामों में देश विदेश के श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में दर्शन के लिए रूख करना शुरू किया, जिसके परिणामस्वरूप गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में अब तक 4,60,098 तीर्थयात्री दर्शन कर लौट चुके हैं। गंगोत्री धाम में 2,63,122 और यमुनोत्री धाम में 1,96,976 यात्री दर्शन कर लौट चुके हैं। इस बार एक माह के भीतर ही रिकार्ड संख्या में यात्री दोनों धाम पहुंचे।

चारधाम यात्रा कोरोना महामारी के चलते बीते दो साल ठप रही, यही वजह है कि इस बार धामों में यात्री रिकार्ड संख्या में दर्शन को पहुंच रहे हैं। चारधाम यात्रा पर आ रहे श्रद्धालुओं ने वाहन दुर्घटना और अन्य कारणों से जान भी गंवाई। जिले के दोनों धाम में 41 यात्रियों की मौत हो चुकी है, जिनमें से 31 यात्री यमुनोत्री धाम की यात्रा पर मरे। इनमें 5 तीर्थयात्रियों ने अलग-अलग वाहन दुर्घटना में अपनी जान गंवाई। एक माह की यात्रा में ही प्रदेश सरकार को धामों में भीड़ नियंत्रण के लिए बिना पंजीकरण वाले यात्रियों को रोकने का फैसला भी लेना पड़ा। जिसके चलते धामों में जितनी संख्या में यात्रियों को पहुंचना चाहिए था, नहीं पहुंच पाए। होटल कारोबारियों ने इसका विरोध किया है। होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेंद्र मटूड़ा ने कहा कि सरकार बिना पंजीकरण वाले यात्रियों को बिल्कुल न रोके। धामों में किसी प्रकार की दिक्कत यात्रियों को नहीं होगी।

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे