Wednesday, February 8, 2023
spot_imgspot_img

बद्रीनाथ हाईवे के कई स्थानों पर मलबा आने से थमी यात्रा, जगह जगह सुरक्षित स्थानों पर रोके गए यात्री

देहरादून।  रड़ांग बैंड, बैनाकुली और खचड़ा नाले में मलबा और बोल्डर आने से बदरीनाथ हाईवे पर दिनभर यातायात बंद रहा। बदरीनाथ जा रहे और वहां से लौट रहे करीब 4500 यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रोका गया है। अब हाईवे खुलने के बाद ही यात्रियों को रवाना किया जाएगा।

शुक्रवार रात भारी बारिश के चलते बदरीनाथ हाईवे रात करीब 11 बजे बैनाकुली और रड़ांग बैंड में अवरुद्ध हो गया था। यहां दिनभर मलबा हटाने का काम चलता रहा। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे दोनों जगहों पर वाहनों की आवाजाही शुरू हुई लेकिन इसी दौरान खचड़ा नाले में पहाड़ी से भारी बोल्डर और मलबा हाईवे पर आ गया। खचड़ा नाला में उफान से पानी भी हाईवे तक पहुंच गया। इसके बाद यात्रा वाहनों की आवाजाही रोक दी गई। बदरीनाथ जा रहे करीब 2500 तीर्थयात्रियों को गोविंदघाट, पांडुकेश्वर और जोशीमठ में रोका गया है। वहीं, बदरीनाथ से लौट रहे लगभग 2000 तीर्थयात्रियों को भी लामबगड़ व बदरीनाथ में रोका गया है। कई तीर्थयात्रियों को निजी होटलों के साथ ही गोविंदघाट गुरुद्वारे में ठहराया गया है। यात्रा वाहनों को जोशीमठ से दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित मारवाड़ी पुल से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि क्षेत्र में लगातार बारिश हो रही है और हाईवे पर लगातार मलबा आ रहा है। एहतियातन यात्रा वाहनों को सुरक्षित जगहों पर रोका गया है। रविवार को मौसम साफ होने पर यात्रियों को रवाना किया जाएगा।

बदरीनाथ हाईवे सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। चीन सीमा को जोड़ने वाले इस मार्ग से सेना और आईटीबीपी के जवानों की आवाजाही होती है। बार-बार हाईवे के बाधित होने से सेना को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सेना की अग्रिम चौकियों तक आवश्यक सामग्री पहुंचना में भी दिक्कत आ रही है। शनिवार को सेना के कई वाहन भी जाम में फंसे रहे।

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे