Monday, February 6, 2023
spot_imgspot_img

क्या है एचआईआईटी? जानिए इस एक्सरसाइज के फायदे और अन्य महत्वपूर्ण बातें

हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग (एचआईआईटी) एक प्रकार का कार्डियो वर्कआउट है, जिसे बहुत तेजी से किया जाता है। यह वर्कआउट मेटाबॉलिज्म को तेज करके कैलोरी को बर्न करने में मदद करता है, जिससे बढ़ते वजन को कम करन आसान हो जाता है। इसके अतिरिक्त, यह मांसपेशियों के मजबूत करने के साथ-साथ रक्त शर्करा और ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में भी सहायक है। आइए आज हम आपको इस वर्कआउट के बारे में विस्तार से बताते हैं।

एचआईआईटी क्या है?
एचआईआईटी सबसे तेज और समय प्रभावी एक्सरसाइज तकनीक है, जो आमतौर पर 10 से 30 मिनट तक की जाती है। आमतैर पर इसमें दौडऩा, रस्सी कूदना, साइकिल चलाना और अन्य एक्सरसाइज शामिल होती हैं। दरअसल, इसमें कम समय में किए जाने वाली तेज एक्सरसाइज शामिल होती हैं, जिनसे हृदय की गति होती है। अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं या फिर मांसपेशियों को मजबूत और लचीला बनाना चाहते हैं तो एचआईआईटी सबसे प्रभावी वर्कआउट है।

एचआईआईटी कैसे करनी चाहिए?
एचआईआईटी वर्कआउट को शुरू करने से पहले वार्म-अप करें। इसके बाद 10-15 मिनट तक लेग स्विंग एक्सरसाइज करें, फिर साइड लेग स्विंग करें। साइड लेग स्विंग एक्सरसाइज के एक मिनट बाद रस्सी कूदें या जंपिंग जैक एक्सरसाइज करें, फिर 10 मिनट तक स्क्वाट और दो मिनट इंचवर्म करें। ध्यान रखें कि प्रत्येक एक्सरसाइज के बीच 60 सेकंड का ब्रेक लेना जरूरी है। इस तरह से आपको वर्कआउट का भरपूर फायदा मिलेगा।

रोजाना एचआईआईटी करने से मिलने वाले फायदे
एचआईआईटी वर्कआउट अधिक कैलोरी बर्न करने में मदद करता है, जिससे आपके लिए वजन को नियंत्रित रखना आसान होगा। इसके अलावा, एचआईआईटी आपके सर्कुलेटरी सिस्टम को मजबूत करके ऑक्सीजन और ब्लड सर्कुलेशन की प्रक्रिया को बेहतर करने में मदद करता है। यह आपके ब्लड प्रेशर के स्तर को भी नियंत्रित रखने में सक्षम है और यह वर्कआउट पैटर्न आपकी नींद की गुणवत्ता में भी सुधार कर सकता है। एचआईआईटी वर्कआउट तनाव जैसी मानसिक समस्याओं से भी छुटकारा दिला सकता है।

चार प्रकार की होती है एचआईआईटी वर्कआउट
अगर आप फिटनेस फ्रीक हैं तो ताबाता एचआईआईटी को अपने रूटीन में शामिल करें, जिसमें 20 सेकंड की एक्सरसाइज और 10 सेकंड के ब्रेक से विभाजित आठ राउंड वर्कआउट शामिल हैं। इसमें स्क्वाट, लंज, हाई नीज और क्रंच जैसी एक्सरसाइज होती हैं। कार्डियो एचआईआईटी हृदय गति को बढ़ाने पर केंद्रित है। फुल-बॉडी एचआईआईटी में पुश-अप्स, साइड किक्स, बियर क्रॉल, माउंटेन क्लाइंबर, कर्टसी लंग्स, हैंडस्टैंड पुश-अप्स आदि एक्सरसाइज शामिल होती हैं। वेट एचआईआईटी मांसपेशियों को मजबूत करने वाला प्रकार है।

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे