Monday, February 6, 2023
spot_imgspot_img

वाह रे स्वास्थ्य विभाग का वैक्सीनेशन सिस्टम ! बुजुर्ग की मौत के कुछ माह बाद दूसरी डोज के सफल वैक्सीनेशन का आया मैसेज, प्रमाणपत्र भी बना

बुजुर्ग की 9 माह पूर्व मृत्यु हो चुकी थी, लेकिन उसके मोबाइल पर दूसरी डोज के सफल वैक्सीनेशन का मैसेज आया

राजस्थान। जोधपुर से चिकित्सा विभाग की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। जहां पर एक बुजुर्ग (पुखराज बोहरा) की 9 माह पूर्व मृत्यु होने के बावजूद उसके मोबाइल पर दूसरी डोज के सफल वैक्सीनेशन का मैसेज आया। मृत बुजुर्ग के परिवार वाले इस मैसेज को देखकर दंग रह गए। परिजनों ने कहा कि बुजुर्ग की 14 मार्च, 2021 को मृत्यु हो गयी थी लेकिन वैक्सीनेशन का मैसेज 17 दिसंबर को आया।

परिजनों के अनुसार, जब उन्होंने सर्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें लिखा था कि पहली डोज आपकी 5 मार्च को और दूसरी डोज 17 दिसंबर को लगाई गई है। यहां तक कि उस सर्टिफिकेट में टीका लगाने वाली NM का नाम भी उषा कंवर बताया गया, जबकि टीकाकरण स्थल का नाम वार्ड नंबर 5 जोधपुर बताया गया है।

मृतक के पुत्र (मनोज बोहरा) ने बताया कि 17 दिसंबर की शाम मोबाइल पर मैसेज आया और बधाई दी कि आपको टीका लग गया है और सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए भी कहा गया। तो हमने डाउनलोड किया तब पता चला कि टीका लग चुका है। साथ ही कहा- मेरे पिताजी का निधन 14 मार्च को हो चुका है और 17 दिसंबर को मैसेज आया, सरकार जांच करे कि आखिर टीके किसको लग रहे हैं और कहां जा रहे हैं। इस फर्जीवाड़े को रोका जाना चाहिए। इस विषय पर जब जिला प्रजनन व शिशु अधिकारी कौशल दवे को बताया तो उन्होंने इस पर कहा कि कई मिलते-जुलते नंबर की वजह से गलत वेरिफिकेशन हुआ होगा, इसकी जांच कर रहे है। इस मामले में कोई भी दोषी पाया जाता है, तो उस पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे