Wednesday, February 21, 2024
spot_imgspot_img

पीके ने फिर साधा नीतीश पर निशाना, कहा बिहार के राजनीतिक घटनाक्रम को देश से जोड़कर देखना ठीक नही

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने प्रतिष्ठित मिडिया से बातचीत में बिहार और देश के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम पर बातचीत की. इस दौरान प्रशांत किशोर ने विपक्षी एकजुटता और नीतीश कुमार को लेकर भी बात की. उन्होंने कहा कि बिहार के राजनीतिक घटनाक्रम को देश से जोड़कर देखना ठीक नहीं. नीतीश के दिल्ली दौरे पर निशाना साधते हुए पीके ने कहा कि देश की राजनीति में बहुत बड़ा फर्क नहीं पड़ेगा.

विपक्षी एकजुटता पर हमला

वो बोले कि बैठकर चाय पीने या खाना खाने से कुछ नहीं होने वाला है. नीतीश कुमार पहले भी बीजेपी के खिलाफ थे, फिर साथ चले गए. 2014 के बाद भी सारे विपक्षी दल विलय की बात कर रहे थे लेकिन हुआ कुछ नहीं.

’10 सालों से दिखा रहे राजनीतिक बाजीगरी’

नीतीश के दिल्ली दौरे को विपक्षी एकजुटता से जोड़कर देखते हुए बिहार में नीतीश कुमार ने विकास नहीं किया. बिहार आज भी पिछड़ा राज्य है. नीतीश कुमार सरकारी सुरक्षा बैगर निकल जाएं, लोगों से बात कर लें उन्हें विकास समझ में आ जाएगा. उन्होंने कहा बिहार में कुछ नहीं सुधरा है. नीतीश कुमार 10 वर्षों से राजनीतिक बाजीगरी दिखा रहे हैं और कुर्सी से चिपके हुए हैं.

बिहार में नीतीश के सारे सिस्टम फेल

उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी फेल है. शराबबंदी के कारण कानून व्यवस्था फेल है. नीतीश कुमार खुद बीजेपी के साथ थे अब मेरे बारे में कह रहे हैं. विपक्षी एकता की जो मुहिम शुरू हुई है, उसका कोई वैल्यू नहीं है. पहले भी विपक्षी एकता की कोशिश हुई थी लेकिन नाकाम रहा. विपक्षी एकता के लिए जमीन पर उतरना होगा, काम करना होगा.

विपक्षी को दी ये हिदायत

राहुल गांधी को उन राज्यों में यात्रा करनी चाहिए जहां कांग्रेस के सामने बीजेपी है. बिहार में अब नीतीश कुमार को जनता के समर्थन से जीत पाना मुश्किल है. नीतीश कुमार के खिलाफ लोगों में गुस्सा है.

 

 

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे