Monday, February 6, 2023
spot_imgspot_img

भारत दौरे पर ऑस्ट्रेलिया ने छुपाई अपनी ताकत, नही उतार रहा अपनी बेस्ट टीम

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 3 मैचों की टी-20 सीरीज खेली जानी है। पहला मुकाबला 20 सितंबर को मोहाली में खेला जाएगा। इस सीरीज को विश्व कप के लिए तैयारी का मौका बताया जा रहा है। ऐसे में सबको लगा था कि दोनों टीमें अपनी बेस्ट प्लेइंग इलेवन के साथ उतरेगी, लेकिन सीरीज शुरू होने से पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम ने खेल कर दिया। उन्होंने अपने 4 स्टार खिलाड़ियों को टीम के साथ नहीं भेजा। ये चार खिलाड़ी- डेविड वार्नर, मिचेल मार्श, मिचेल स्टार्क और मार्कस स्टोइनिस हैं। कहा गया कि वार्नर इस सीरीज से रेस्ट करेंगे तो वहीं, मार्श, स्टार्क और स्टोइनिस चोटिल हैं।कुछ दिन पहले ये खिलाड़ी न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में खेल रहे थे तो अचानक वो चोटिल कैसे हो गए। ये बात असानी से पचने वाली नहीं है।

ऑस्ट्रेलिया अपनी स्ट्रैटिजी नहीं बताना चाहता
ऑस्ट्रेलिया की टीम 2021 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप की चैंपियन रही थी। इस बार यह मेगा टूर्नामेंट उनके घर में हो रहा है। ऐसे में वो हर हाल में चाहेंगे कि ट्रॉफी उनके नाम हो। भारत वर्ल्ड कप जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया यह नहीं चाहता होगा कि सीरीज के दौरान उनके प्रमुख खिलाड़ियों की प्लानिंग भारतीय टीम को पता चले। इसलिए माना जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया ने अपने चार मैच विनर्स को भारत आने से रोक दिया।

मैच विनर्स को एक्सपोज नहीं करना चाहते कंगारू

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अपना आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ 11 सितंबर को खेला था। इस मैच में मिचेल स्टार्क टीम का हिस्सा थे और उन्होंने 9.5 ओवर गेंदबाजी की थी। उन्होंने 60 रन दिए और 3 विकेट भी लिए, लेकिन भारत के खिलाफ सीरीज के लिए कहा गया कि उन्हें घुटने में चोट आई है।
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को सीरीज से आराम दे दिया गया है। उनकी जगह कैमरून ग्रीन टीम का हिस्सा बनाए गए हैं। ग्रीन भारत के खिलाफ तो सीरीज में खेलेंगे, लेकिन वो वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा नहीं हैं।

मिचेल मार्श जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया को 2021 का वर्ल्ड कप दिलाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वो भी सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे। उन्होंने अपना आखिरी मैच 28 अगस्त को खेला था। ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ने कहा उन्हें टखने में दिक्कत है। मार्श भी वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा हैं और टीम के प्रमुख खिलाड़ी हैं।

टीम के एक और प्रमुख खिलाड़ी मार्कस स्टोइनिस को भी बाहर कर दिया गया। कहा गया कि उनके मांसपेशियों में खिंचाव है। जबकि, उन्होंने भी अपना आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ 8 सितंबर को खेला था।

ये चारों खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के लिए खुद को कई बार साबित कर चुके हैं। डेविड वार्नर पिछले टी-20 वर्ल्ड कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट थे। वहीं, मिचेल स्टार्क 2015 वनडे वर्ल्ड कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नमेंट रहे हैं। मिचेल मार्स और मार्कस स्टोइनिस ऑलराउंडर होने की वजह से ऑस्ट्रेलिया के ट्रम्प कार्ड माने जा रहे हैं। इसलिए वर्ल्ड कप से ठीक पहले ऑस्ट्रेलिया इन चारों खिलाड़ियों भारत जैसी मजबूत प्रतिद्वंद्वी टीम के सामने ज्यादा एक्सपोज नहीं करना चाहता।

अपने खिलाड़ियों को तरोताजा रखना चाहती है ऑस्ट्रेलियाई टीम
ऑस्ट्रेलिया की टीम अपने स्टार खिलाड़ियों को थकाना नहीं चाहती है। खिलाड़ी अगर तरोताज रहेंगे तो वो बेहतर प्रदर्शन करेंगे। अभी हाल ही में एशिया कप में देखा गया कि अफगानिस्तान ने लगातार दो दिनों में 2 मुकाबले खेले। पहले मैच में तो उन्होंने पाकिस्तान को कड़ी चुनौती दी, लेकिन अगले दिन भारत के खिलाफ उनके खिलाड़ी थके हुए नजर आ रहे थे।

इसका फायदा सबसे ज्यादा भारतीय खिलाड़ियों ने उठाया। विराट कोहली ने तो अफगानिस्तान के खिलाफ शतक तक जड़ दिया। ऑस्ट्रेलिया की टीम इसलिए अपनी पूरी ताकत भारत के खिलाफ नहीं झोंकना चाहती होगी।

ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड कप में पूरी एनर्जी के साथ उतरना चाहेगी। ये सबसे बड़ा कारण हो सकता है कि वो अपनी मेन टीम के साथ भारत नहीं आई है।

- Advertisement -spot_imgspot_img

ताजा खबरे